Home » World » Two Indian Brothers Charged In Us For Duping Investors For Writing Unbiased Information Tk | फ्रॉड के आरोप में भारतीय मूल के दो भाइयों पर केस, ‘Unbiased’ रिपोर्ट देने के लेते थे पैसे

Two Indian Brothers Charged In Us For Duping Investors For Writing Unbiased Information Tk | फ्रॉड के आरोप में भारतीय मूल के दो भाइयों पर केस, ‘Unbiased’ रिपोर्ट देने के लेते थे पैसे


फ्रॉड के आरोप में भारतीय मूल के दो भाइयों पर केस, 'Unbiased' रिपोर्ट देने के लेते थे पैसे

अमेरिकी फेडरल रेगुलेटरी ने भारतीय मूल के दो भारतीय भाइयों पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है. सार्वजनिक रूप से बिजनेस करने वाली छोटी और माइक्रोकैप कंपनियों पर निष्पक्ष रिसर्च रिपोर्ट कथित रूप से मुहैया कराने के लिए दोनों भाईयों पर निवेशकों को धोखा देने का आरोप है.

भारतीय मूल के अजय टंडन (41) और अमित टंडन(47) के खिलाफ सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ने निवेशकों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है. कंपनी का कहना था कि यह रिपोर्ट कथित रूप से निष्पक्ष थी और रिसर्च के लिए किसी प्रकार का भुगतान नहीं किया गया था. वास्तविकता यह थी कि हर रिपोर्ट के लिए उन्हें हजारों डॉलर दिए गए थे.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, एसईसी के अटलांटा रीजनल ऑफिस के डायरेक्टर रिचर्ड बेस्ट ने कहा कि पेड एडवर्टाइजिंग और निष्पक्ष रिसर्च कवरेज में बहुत साफ फर्क है, और हमारा आरोप है कि सी-थ्रू और इसके सह-संस्थापकों ने निवेशकों को धोखा देने और पैसा बनाने के लिए इस फर्क को मिटा दिया.

अजय ‘सी थ्रू इक्विटी’ के सह-संस्थापक और सीईओ हैं और सिक्योरिटीज इंडस्ट्री में अनुभवी है. अमित सी थ्रू में रिसर्च डायरेक्टर और साथ ही एक वकील और न्यूयॉर्क बार के सदस्य हैं.

एसईसी की शिकायत के अनुसार, सी थ्रू इक्विटी और टंडन बंधुओं ने मुफ्त में एक रिसर्च रिपोर्ट हासिल करने के उद्देश्य से निवेशक सम्मेलन में प्रजेंटेशन बनाने के लिए कंपनियों को आमंत्रित किया और भुगतान में हेराफेरी की.

सी थ्रू और टंडन बंधु ने प्रत्येक कंपनी से कांफ्रेंस प्रजेंटेंशन शुल्क के तौर पर कथित रूप से हजारों डॉलर जुटाए.

शिकायत मैनहटन के फेडरल कोर्ट में है. इसमें टंडन बंधुओं पर फेडरल सिक्योरिटी लॉ के एंटी फ्रॉड प्रोविजन्स के तहत आरोप लगाया गया है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)



Source link

, , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: