Home » Sports » ms dhoni comparison between dinesh karthik and rishabh pant in t-20 matches

ms dhoni comparison between dinesh karthik and rishabh pant in t-20 matches


  • दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत को आजमाने के लिए धोनी को टी-20 टीम से बाहर किया गया
  • धोनी ने ऑस्ट्रेलिया में टी-20 में 51.50 की औसत से रन बनाए हैं
  • इसके बावजूद वे वेस्टइंडीज-ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में नहीं चुने गए

Dainik Bhaskar

Oct 29, 2018, 06:18 AM IST

खेल डेस्क. महेंद्र सिंह धोनी को वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए नहीं चुना गया। उन्हें पहली बार टी-20 टीम में जगह नहीं मिली। इसके पीछे मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का तर्क है कि वे टीम में विकेटकीपिंग के विकल्पों को मजबूत करना चाहते हैं, इसलिए दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत को तरजीह दी गई है। हालांकि, पिछले एक साल के प्रदर्शन पर नजर डालें तो धोनी वनडे में भले ही फॉर्म में न हों, लेकिन टी-20 में उनका रिकॉर्ड विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी, दोनों में कार्तिक और पंत से बेहतर है। इस दौरान धोनी ने टी-20 में कार्तिक-ऋषभ दोनों के कुल रनों से 71 फीसदी ज्यादा रन बनाए, जबकि दोनों के कुल मैच और उनके टी-20 मुकाबलों की संख्या बराबर थी।

पिछले एक साल में 13 में से छह टी-20 में नाबाद लौटे

  1. धोनी ने पिछले एक साल में 13 टी-20 खेले। उन्होंने 52.40 की औसत से 262 रन बनाए, जबकि दो टी-20 में उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला और छह बार नॉटआउट रहे। इस दौरान उन्होंने विपक्षी टीम के 20 (11 कैच और नौ स्टम्पिंग) खिलाड़ियों को पवेलियन भेजने में मदद की।

  2. टी-20 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी कार्तिक-ऋषभ के मुकाबले धोनी का प्रदर्शन बेहतर है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 15 टी-20 में 34.85 की औसत से 244 रन बनाए। धोनी ने ऑस्ट्रेलिया में उसके खिलाफ 6 टी-20 में 51.50 की औसत से 103 रन बनाए हैं। कार्तिक ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टी-20 में आठ रन बनाए हैं। ऋषभ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोई टी-20 नहीं खेला।

  3. कार्तिक ने पिछले एक साल के दौरान 11 टी-20 खेलकर 121 रन बनाए। उनका बल्लेबाजी औसत जरूर धोनी से बेहतर रहा, लेकिन वे चार कैच और तीन स्टम्प ही कर पाए। विंडीज के खिलाफ तीसरे वनडे में धोनी ने हेमराज चंद्रपॉल का कैच 3 सेकंड में 19 मीटर की दूरी तय करके लिया। 37 साल की उम्र में इस तरह का कैच उनकी फिटनेस को दर्शाता है।

  4. पिछले एक साल में ऋषभ ने तीन वनडे और दो टी-20 खेले। दोनों ही फॉर्मेट में उनका प्रदर्शन निराशाजनक रहा। विंडीज के खिलाफ विशाखापट्टनम वनडे में वे सिर्फ 17 रन ही बना पाए, जबकि दो टी-20 में से एक में 23 और दूसरे में सात रन ही बना पाए। 


  5. 12 साल पहले डेब्यू में जीरो पर पवेलियन लौटे थे, तब से कभी शून्य पर नहीं आउट हुए धोनी

    धोनी ने दिसंबर 2006 में टी-20 डेब्यू किया था। तब से भारत की ओर से खेले गए 104 टी-20 में से वे 93 में टीम इंडिया का हिस्सा रहे। वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में खेले गए अपने पहले टी-20 में शून्य पर आउट हुए थे। तब से वे शून्य पर नहीं आउट हुए।

  6. भारतीय टीम के पूर्व कप्तान धोनी ने अपने टी-20 करियर के दौरान 37.17 की औसत और 127 के स्ट्राइक रेट से 1487 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने विकेट के पीछे 54 कैच पकड़े और 33 खिलाड़ियों को स्टम्प किया।


  7. आईपीएल में बल्लेबाजी औसत में धोनी नंबर वन

    इस साल आईपीएल में बल्लेबाजी औसत में धोनी टॉप पर रहे। उन्होंने 16 मैच में 75.83 की औसत से 455 रन बनाए। कार्तिक 10वें और ऋषभ आठवें नंबर पर रहे। कार्तिक ने 16 मैच में 49.80 की औसत से 498 रन बनाए। इस संस्करण में सबसे ज्यादा 684 रन बनाने वाले ऋषभ पंत का बल्लेबाजी औसत भी 52.61 का ही रहा।


     


    Doni

     





Source link

, , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: