Home » India » Delhi Pollution After Diwali Smog Again In Delhi Ncr Aiq 334 In Anand Viahar Know Aqi Level Of Different Places Pa | #DelhiDoesn’tCare: दिवाली के बाद फिर स्मॉग की चादर में लिपटी दिल्ली, कृत्रिम बारिश से दूर होगा ‘जहर’

Delhi Pollution After Diwali Smog Again In Delhi Ncr Aiq 334 In Anand Viahar Know Aqi Level Of Different Places Pa | #DelhiDoesn’tCare: दिवाली के बाद फिर स्मॉग की चादर में लिपटी दिल्ली, कृत्रिम बारिश से दूर होगा ‘जहर’


#DelhiDoesn'tCare: दिवाली के बाद फिर स्मॉग की चादर में लिपटी दिल्ली, कृत्रिम बारिश से दूर होगा 'जहर'

पिछले कई दिनों से दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण की वजह से हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं. खबर है कि दिवाली के बाद गुरुवार सुबह दिल्ली की हवा की गुणवत्ता एक बार फिर बेहद खराब की श्रेणी की तरफ बढ़ गई है. दिल्ली के ज्यादातर हिस्से स्मॉग की सफेद चादर में लिपटे नजर आए. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली के कई इलाकों में लोगों ने रात 8 से 10 बजे के बीच पटाखे फोड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गई समय सीमा का उल्लंघन भी किया. दिल्ली में हवा का स्तर इतना खराब है इसमें गुरुवार दोपहर के बाद सुधार होने की उम्मीद जताई जा रही है.

यह भी पढ़ें: #DelhiDoesn’tCare: चारों तरफ बस धुआं-धुआं, तय समय-सीमा के बाद भी फोड़े गए पटाखे

आनंद विहार में गुरुवार सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 334, चाणक्यपुरी में 459, बवाना में 372, मथुरा रोड में 343, द्वारका 337, आईटीओ में 347, लोधी रोड में 315, मुंडका में 350, नरेला में 334, ओखला में 318, पंजाबी बाग में 332, रोहिणी में 318 और वजीरपुर 344 दर्ज किया गया. दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक पर पहुंच गया है. दिल्ली का राजपथ गुरुवार सुबह धुंध में बुरी तरह से लिपटा नजर आया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार दिवाली के दिन शाम 7 बजे एक्यूआई 281 था, रात 8 बजे यह बढ़कर 291 और रात 9 बजे यह 294 हो गया. वहीं बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह ने दिल्ली में पटाखे जलाने को लेकर ट्वीट किया है.

बता दें कि पटाखे जलाने के मामले में मयूर विहार एक्सटेंशन, लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, आईपी एक्सटेंशन, द्वारका, नोएडा सेक्टर 78 समेत अन्य स्थानों से सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किए जाने की खबर है. वहीं इससे पहले पर्यावरण प्रदूषण निवारक प्राधिकरण (EPCA) के चेयरमैन ने कहा था कि 1 से 10 नवंबर के बीच जिन कदमों का ऐलान किया गया था, उससे हालात नहीं सुधरे तो लोगों को कुछ और सख्त कदम झेलने पड़ सकते है. इनमें निजी गाड़ियों पर बैन भी मुमकिन है.

वहीं सीपीसीबी ने कहा है कि दिवाली के बाद स्मॉग को खत्म करने के लिए दिल्ली एनसीआर में आर्टिफिशियल रेन (कृत्रिम बारिश) करवाना जरूरी है ताकि हवा में मौजूद जहरीले तत्तवों को समाप्त किया जा सके. सीपीसीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आईआईटी कानपुर और भारतीय मौसम विभाग के अधिकारियों के साथ इस विषय को लेकर चर्चा की जा रही है. कई डगहों पर बिगड़ते हालात को देखकर यह फैसला लिया गया है.



Source link

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: