Home » India » Cbi Special Director Rakesh Asthana Appears Before Cvc After Alok Verma | CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना CVC के सामने पेश हुए

Cbi Special Director Rakesh Asthana Appears Before Cvc After Alok Verma | CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना CVC के सामने पेश हुए


CBI के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना CVC के सामने पेश हुए

सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के सामने पेश हुए.

इसके पहले सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा भी केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के सामने पेश हुए थे. उन्होंने अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीवीसी को जवाब दिया. वर्मा ने रिश्वत लेने सहित अपने ऊपर लगे अन्य सभी आरोपों को खारिज किया. सीवीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के सामने आलोक वर्मा का बयान रिकॉर्ड किया गया है.

क्या है पूरा मामला:

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने शिकायत दर्ज कराई थी.

दरअसल सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने हैदराबाद के व्यापारी सतीश सना से 3 करोड़ रुपए की कथित रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ केस दर्ज करवाया था. इसके बाद राकेश अस्थाना ने सीबीआई निदेशक पर ही इस मामले में आरोपी को बचाने के लिए 2 करोड़ रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाया था.

दोनों अफसरों के बीच की ये लड़ाई सार्वजनिक हो गई तो केंद्र सरकार ने इसमें दखल दिया और उन्हें छुट्टी पर भेज दिया. वहीं कई अफसरों का ट्रांसफर भी कर दिया गया है. अब सीवीसी दोनों अफसरों के खिलाफ जांच कर रही है.

Alok Verma CBI

अरुण शर्मा के खिलाफ भी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है:

सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना का दावा है कि उनके खिलाफ सतीश सना कि शिकायत सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय के कुछ अधिकारियों की साजिश है. उन्होंने सीबीआई चीफ अरुण शर्मा के खिलाफ भी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें: CVC के सामने पेश हुए CBI निदेशक आलोक वर्मा, भ्रष्टाचार के आरोपों पर दी सफाई

अस्थाना ने बताया कि उन्होंने अगस्त में ही कैबिनेट सचिव को इन शीर्ष अधिकारियों के भ्रष्टाचार के मामलों की जांच में हस्तक्षेप की जानकारी दी थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि सीबीआई चीफ ने मोइन कुरैशी के मामले में सतीश सना के खिलाफ चल रही जांच को असफल करने के बदले 2 करोड़ रुपए की रिश्वत ली थी लेकिन जब सतीश सना को देश छोड़ने से मना कर दिया गया और उसे जांच के दायरे में लाया गया तो उनके खिलाफ साजिश रची गई.

टीडीपी नेता के जरिए सीबीआई निदेशक से केस का ‘सेटलमेंट’ किया था:

अस्थाना के मुताबिक उन्होंने कैबिनेट सचिव को बताया कि सतीश सना ने हाल ही में की गई पूछताछ में बताया है कि उसने टीडीपी के नेता के जरिए सीबीआई निदेशक से केस का ‘सेटलमेंट’ किया था. टीडीपी के इस नेता के खिलाफ इनकम टैक्स विभाग छापेमारी कर चुका है.

आपको बता दें कि मीट व्यापारी मोइन कुरैशी के खिलाफ इस समय प्रवर्तन निदेशालय हवाला के मामलों की जांच कर रहा है. इसके तार दुबई, लंदन और यूरोप में कई जगह तक फैले हो सकते हैं. जांच एजेंसी ने यह भी बताया है कि आयकर विभाग से मिले दस्तावेजों के मुताबिक मोइन कुरैशी ने उच्चाधिकारियों से कई काम कराने के बदले काफी पैसे लिए हैं.

यह भी पढ़ें: CBI के बुरे दिन: आखिर किस चीज ने देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी को इतना बीमार कर दिया

यह भी पढ़ें: राकेश अस्थाना मामला: कथित बिचौलिये को जमानत देने से कोर्ट ने किया इनकार



Source link

, , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: