Home » India » Avni Murder Postmartam Report Says Avni Had Not Eaten Anything From Seven Days Rt | AVNI मर्डर केस: एक हफ्ते से भूखी थी बाघिन अवनी, अब शावकों की जान को खतरा

Avni Murder Postmartam Report Says Avni Had Not Eaten Anything From Seven Days Rt | AVNI मर्डर केस: एक हफ्ते से भूखी थी बाघिन अवनी, अब शावकों की जान को खतरा


AVNI मर्डर केस: एक हफ्ते से भूखी थी बाघिन अवनी, अब शावकों की जान को खतरा

महाराष्ट्र के यवतमाल के जंगलों में 13 लोगों की जान लेने वाली बाघिन अवनी की मौत मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि उसने मौत से एक हफ्ते पहले तक कुछ नहीं खाया था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अब आशंका जताई गई है कि उसके शावकों की भी भूख की वजह से मौत हो सकती है. वन विभाग के 100 अधिकारी शावकों की तलाश में लग गए हैं जिससे उन्हें पर्याप्त भोजन दिया जा सके.

वन्य विशेषज्ञ दावा कर रहे हैं कि ऐसे हालातों में शावकों का बचना मुश्किल है. अब अवनी की त्वचा और मांसपेशियों के सैंपल लेकर रीजनल फॉरेंसिक लेबोरेटरी भेजा गया है जिससे केमिकल और बैलिस्टिक जांच की जा सके.

वहीं अवनी को मारने वाले शूटर असगर अली के पिता ने केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी है क्योंकि असगर को अपराधी और हत्या मामले में संदिग्ध कहा गया था.

गौरतलब है कि अवनी वही बाघिन है, जिसने महाराष्ट्र के यवतमाल के जंगलों में कम से कम 13 लोगों की जान ली. लेकिन कितने समय में, ये एक बड़ा सवाल है. T1 ने दो साल में अलग-अलग जगह 13 लोगों को अपना शिकार बनाया.
उसे अपने दो बच्चों के साथ कई बार देखा गया. लेकिन उस तक पहुंचना आसान नहीं था.

अवनी की लोकेशन और उसकी तस्वीरों के लिए कैमरा ट्रैप लगाए गए. विदेशी नस्ल के शिकारी कुत्ते मंगवाए गए, हाथी पर बैठ खोजबीन की गई. यही नहीं वन विभाग के 100 से ज्यादा कर्मियों ने पैदल भी उसे ढूंढने का प्रयास किया. पर
अवनी सब को चकमा देकर निकल जाती थी.

बाघिन की मौत के मामले में सियासी बयानबाजी खूब हुई थी. केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने इस घटना पर कड़ी आपत्ति जताई थी वहीं महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा था, ‘अगर पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के सीएम यह मानते हैं कि मैं एक बोझ हूं तो वह मुझे पद से हटा सकते हैं. लेकिन इसका फैसला मेनका गांधी द्वारा नहीं लिया जाएगा. वह ऐसा करने का अधिकार नहीं रखती हैं.’



Source link

, , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: