Home » Business » 8100 करोड़ रु के फ्रॉड के आरोपी संदेसरा को भगोड़ा घोषित करने की मांग

8100 करोड़ रु के फ्रॉड के आरोपी संदेसरा को भगोड़ा घोषित करने की मांग





नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुजरात की फार्मा कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक के मालिकों को भगोड़े आर्थिक अपराधी घोषित करने की मांग की है। ईडी ने शुक्रवार को विशेष अदालत में अर्जी दाखिल की। स्टर्लिंग बायोटेक का मालिक नितिन जयंतीलाल संदेसरा और उसका परिवार 8,100 करोड़ रुपए के बैंक लोन फ्रॉड का आरोपी है। नितिन अपने परिवार समेत विदेश भाग चुका है।

  1. ईडी ने भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून के तहत नितिन, चेतन, दीप्ति संदेसरा और हितेश पटेल के खिलाफ याचिका दायर की। चारों स्टर्लिंग बायोटेक के प्रमोटर हैं। ईडी ने देश-विदेश में इनकी 7,000 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त करने की मांग की है। अदालत ने सभी को नोटिस जारी कर दिए।

  2. इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने इसी हफ्ते नई चार्जशीट दाखिल की। इसमें संदेसरा परिवार पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप तय किए गए। यूएई, यूएसए, यूके और मॉरिशस समेत कई देशों में संदेसरा परिवार की कंपनियां हैं।

  3. ईडी के मुताबिक देश के बाहर संदेसरा फैमिली की प्रमुख कंपनियों में रिचमंड ओवरसीज, सनशाइन ट्रस्ट कॉरपोरेशन, सीपको बीवीआई, सीपको नाईजीरिया, अटलांटिक ब्लू वाटर सर्विसेज शामिल हैं। नाईजीरिया में ऑयल सेक्टर में इनकी खास रुचि है।

  4. ऑयल कारोबार के साथ ही नाईजीरिया में संदेसरा फैमिली की काफी संपत्ति है। इनमें ऑयल ब्लॉक और रिफायनिंग एंड ट्रांसपोर्टेशन फैसिलिटी शामिल हैं।

  5. ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड में भी अचल संपत्तियां हैं। ईडी विशेष अदालत में दायर याचिका में इन सभी प्रॉपर्टी को जब्त करने की मांग की है। दूसरी संपत्तियों का भी पता लगाया जा रहा है।

  6. स्टर्लिंग बायोटेक के प्रमोटर्स ने बैंकों से लोन लेकर शेल कंपनियों के जरिए विदेशों में ट्रांसफर कर दिया। ईडी इस मामले में 5 चार्जशीट दाखिल कर चुका है। कुछ सरकारी अधिकारियों के खिलाफ भी जांच की जा रही है। उन पर 140 करोड़ रुपए की रिश्वत लेकर संदेसरा को फायदा पहुंचाने का आरोप है।

  7. नितिन, चेतन और दीप्ति संदेसरा के नाईजीरिया में होने का शक है। हितेश पटेल के यूएस में होने की रिपोर्ट है। ईडी जल्द इनके प्रत्यर्पण की कोशिश शुरू करेगा।

  8. इस मामले में अब तक चार लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें दिल्ली का कारोबारी गगन धवन, स्टर्लिंग बायोटेक का डायरेक्टर राजभूषण दीक्षित, आंध्रा बैंक का पूर्व डायरेक्टर अनूप गर्ग और गगन का सहयोगी रणजीत मलिक शामलि है।

  9. प्रवर्तन निदेशालय स्टर्लिंग बायोटेक की 4,710 करोड़ रुपए की संपत्ति अटैच कर चुका है। जांच के लिए फर्म और आरोपियों से जुड़े 15 लाख दस्तावेज सीज किए गए हैं।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      नितिन जयंतीलाल संदेसरा



      Source link

      , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: