Home » India » सरदार पटेल की 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' का मोदी ने किया अनावरण, 33 महीने में 2989 करोड़ रुपए से बनकर तैयार हुए सबसे ऊंचे 'सरदार'

सरदार पटेल की 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' का मोदी ने किया अनावरण, 33 महीने में 2989 करोड़ रुपए से बनकर तैयार हुए सबसे ऊंचे 'सरदार'






नेशनल डेस्क/ केवड़िया: सरदार वल्लभ भाई पटेल की आज 143वीं जयंती, इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के केवड़िया में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। इससे पहले मोदी ने 30 नदियों के जल से प्रतिमा के पास स्थित शिवलिंग का अभिषेक किया। 30 ब्राह्मणों ने मंत्रोच्चार किया। सरदार सरोवर पर बनी सरदार की प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' दुनिया में सबसे ऊंची है। जिस तरह सरदार वल्लभ भाई पटेल की ये प्रतिमा विशाल है ठीक उसी तरह इनका व्यक्तित्व भी बेहद विशाल था। प्रतिभा के धनी सरदार पटेल के विचार आज भी प्रासंगिक हैं और प्रेरणादायी भी। उन्ही के 10 खास विचार हम आपको बता रहे हैं।

सरदार पटेल के 10 विचार

  • 'शक्ति के अभाव में विश्वास व्यर्थ है। विश्वास और शक्ति, दोनों किसी महान काम को करने के लिए आवश्यक हैं।'
  • 'बोलने में मर्यादा मत छोड़ना, गालियां देना तो कायरों का काम है।'
  • 'यहाँ तक कि यदि हम हज़ारों की दौलत गवां दें, और हमारा जीवन बलिदान हो जाए, हमें मुस्कुराते रहना चाहिए और ईश्वर एवं सत्य में विश्वास रखकर प्रसन्न रहना चाहिए।'
  • 'मनुष्य को ठंडा रहना चाहिए, क्रोध नहीं करना चाहिए। लोहा भले ही गर्म हो जाए, हथौड़े को तो ठंडा ही रहना चाहिए अन्यथा वह स्वयं अपना हत्था जला डालेगा। कोई भी राज्य प्रजा पर कितना ही गर्म क्यों न हो जाये, अंत में तो उसे ठंडा होना ही पड़ेगा।'
  • 'आपकी अच्छाई आपके मार्ग में बाधक है, इसलिए अपनी आँखों को क्रोध से लाल होने दीजिये, और अन्याय का सामना मजबूत हाथों से कीजिये।'
  • 'इस मिट्टी में कुछ अनूठा है, जो कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास रहा है।'
  • 'जीवन की डोर तो ईश्वर के हाथ में है, इसलिए चिंता की कोई बात हो ही नहीं सकती।'
  • 'काम करने में तो मजा ही तब आता है, जब उसमे मुसीबत होती है मुसीबत में काम करना बहादुरों का काम है मर्दों का काम है कायर तो मुसीबतों से डरते हैं लेकिन हम कायर नहीं हैं, हमें मुसीबतों से डरना नहीं चाहिये।'
  • 'एकता के बिना जनशक्ति शक्ति नहीं है जबतक उसे ठीक तरह से सामंजस्य में ना लाया जाए और एकजुट ना किया जाए, और तब यह आध्यात्मिक शक्ति बन जाती है।'
  • 'यह हर एक नागरिक की जिम्मेदारी है कि वह यह अनुभव करे की उसका देश स्वतंत्र है और उसकी स्वतंत्रता की रक्षा करना उसका कर्तव्य है। हर एक भारतीय को अब यह भूल जाना चाहिए कि वह एक राजपूत है, एक सिख या जाट है। उसे यह याद होना चाहिए कि वह एक भारतीय है और उसे इस देश में हर अधिकार है पर कुछ जिम्मेदारियां भी हैं।'
    <br /><br />
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                    <figure>
            <a href="https://www.bhaskar.com/national/news/statue-of-unity-sardar-vallabhbhai-patel-quotes-in-hindi-5976425.html">
                <img border="0" hspace="10" align="left" style="margin-top:3px;margin-right:5px" src="https://i10.dainikbhaskar.com/thumbnails/891x770/web2images/www.bhaskar.com/2018/10/31/patel_1_1540920848_154096.jpg" />
            <figcaption>statue of unity: Sardar Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi</figcaption>
            </a> 
        </figure>
                </section>



Source link

, , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: