Home » TECH » फेसबुक के 81 हजार यूजर्स के अकाउंट हैक किए, उनके प्राइवेट मैसेज और डेटा को हैकर्स सिर्फ 6.5 रुपए में बेच रहे

फेसबुक के 81 हजार यूजर्स के अकाउंट हैक किए, उनके प्राइवेट मैसेज और डेटा को हैकर्स सिर्फ 6.5 रुपए में बेच रहे





गैजेट डेस्क. फेसबुक के लिए 2018 काफी खराब साल रहा है और इस साल कई बार डेटा लीक के मामले सामने आए हैं। अब बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि हैकर्स ने फेसबुक के 81 हजार यूजर्स के अकाउंट को हैक कर न सिर्फ उनका डेटा चुराया बल्कि इसे सिर्फ 10 सेंट (6.50 रुपए) में बेचा भी जा रहा है। बीबीसी के मुताबिक, डेटा को बिक्री के लिए जिस वेबसाइट पर पब्लिश किया गया है, उसका डोमेन रूस के सेंट पीटर्सबर्ग का बताया जा रहा है।

हैकर्स के पास 12 करोड़ यूजर्स की अकाउंट डिटेल्स

  • बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इसी साल सितंबर में FBSeller नाम के एक यूजर ने एक फोरम में जानकारी दी थी कि उसके पास 12 करोड़ फेसबुक यूजर्स की अकाउंट डिटेल्स है, जिन्हें वे बेचना चाहते हैं।
  • हालांकि, जब बीबीसी की तरफ से साइबर सिक्योरिटी फर्म डिजिटल शैडो ने इस मामले की जांच की तो पाया कि हैकर्स 81 हजार फेसबुक यूजर्स के अकाउंट को उनके प्राइवेट मैसेज के साथ बेच रहे हैं।
  • इसके अलावा डिजिटल शैडो ने ये भी पाया कि हैकर्स के पास 1,76,000 यूजर्स के ई-मेल एड्रेस और फोन नंबर का डेटा भी है। हालांकि ये डेटा यूजर्स से ही मिला है क्योंकि ज्यादातर यूजर्स अपना ई-मेल और फोन नंबर पब्लिकली पोस्ट करते हैं।

रूसी वेबसाइट ने हैक किया डेटा : बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में इस बात की जानकारी नहीं दी है कि इस डेटा को किसने चुराया है। लेकिन उसने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि जिस वेबसाइट पर यूजर्स के डेटा को बेचने का विज्ञापन चलाया गया था, उसका डोमेन रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में है।

हैकर्स ने कैसे चुराया यूजर्स का डेटा

  • बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, हैकर्स ने यूजर्स की अकाउंट डिटेल्स और उनके प्राइवेट मैसेजेस को मैलवेयर वेबसाइट्स और ब्राउजर एक्सटेंशन लिया होगा।
  • बीबीस ने दावा किया है कि उसने 5 रूसी यूजर्स से बात की जिनके प्राइवेट मैसेजेस को बेचा जा रहा था और इन यूजर्स ने बताया है कि ये मैसेजेस उन्हीं के हैं। इन मैसेजेस में न सिर्फ टेक्स्ट बल्कि फोटोज़ भी शामिल है।
  • हैकर्स जिन यूजर्स के डेटा को बेच रहे हैं, उनमें यूक्रेन और रूस के अलावा ब्रिटेन, अमेरिका, ब्राजील समेत कई देशों के फेसबुक यूजर्स शामिल हैं।

इस मामले पर फेसबुक ने क्या कहा?

  • इस मामले पर फेसबुक में प्रोडक्ट के वाइस-प्रेसिडेंट गाय रोजेन ने बीबीसी को बताया कि ‘हम इस मामले पर ब्राउजर मेकर्स बात कर रहे हैं और उन्हें ये सुनिश्चित करने को कहा गया है कि जिन एक्सटेंशन से यूजर्स का डेटा चुराया गया, वो अब उनके प्लेटफॉर्म पर डाउनलोड के लिए मौजूद नहीं है।’
  • उन्होंने कहा कि ‘हम इस मामले पर कानूनी एजेंसियां और लोकल अथॉरिटीज़ से भी बात कर रहे हैं ताकि जिस वेबसाइट पर यूजर्स का डेटा बेचा जा रहा है, उस वेबसाइट को ब्लॉक किया जा सके।’

ब्राउजर पर एक्सटेंशन डाउनलोड करने से बचें : इस मामले में सामने आया है कि हैकर्स ने यूजर्स का डेटा फेसबुक से नहीं बल्कि ब्राउजर एक्सटेंशन की मदद से चुराया है। ज्यादातर लोग अपनी सहूलियत के लिए ब्राउजर में मौजूद एक्सटेंशन को डाउनलोड कर लेते हैं, लेकिन हैकर्स इन एक्सटेंशन की मदद से उनके डेटा को चुरा लेते हैं। इसलिए कोई भी एक्सटेंशन को डाउनलोड करने से पहले उसे अच्छी तरह चेक कर लें।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


81 thousand hacked facebook accounts and private message up for sale



Source link

, , , , , , , , , ,

Leave a Reply

%d bloggers like this: